Tuesday, December 5, 2017

JL-DL-NET(Model Bits in Hindi)-10

JL-DL-NET(Model Bits in Hindi)-10

1. प्रेमचंद की सरस्वती पत्रिका में प्रकाशित प्रथम कहानी?
पंच परमेश्वर
सौत
दुर्गा का मंदिर
ईश्वरीय न्याय

2. प्रेमचंद के बचपन का नाम था?
धनपतराय
गुलाबराय
नवाबराय
प्रेमचंद

3. 'सुखमय जीवन और बुद्धू का काँटा' कहानियाँ किस लेखक की है?
प्रेमचंद
चंद्रधर शर्मा गुलेरी
बंगमहिला
रामचंद्र शुक्ल

4. 'दुलाईवाली' कहानी किसकी है?
बंगमहिला
महादेवी वर्मा
सुदर्शन
प्रेमचंद

5. प्रेमचंद का जन्म कहाँ हुआ?
लमही(बनारस)
सीही(मथुरा)
मेदनी गाँव
गढ़ाकोला

6. 'ठेठ हिन्दी का ठाठ' उपन्यास के रचयिता है?
देवकीनंदन खत्री
हरिऔध
प्रेमचंद
सुदर्शन

7. 'देवरानी जेठानी की कहानी' किसका उपन्यास है?
पं. गौरीद्त्त
श्रद्धाराम फिल्लौरी
जगमोहन सिंह
राधाकृष्णदास

8. 'भाग्यवती' उपन्यास के उपन्यासकार है?
किशोरीलाल गोस्वामी
श्रद्धाराम फिल्लौरी
प्रेमचंद
बृजनंदन सहाय

9. 'उपन्यास' पत्रिका के सम्पादक थे?
किशोरीलाल गोस्वामी
रामजीदास वैश्य
राधाकृष्णदास
गंगाप्रसाद गुप्त

10. हिंदी-हिंदू-हिंदूस्तान का नारा किसने दिया?
भारतेंदु
बालमुकुंद गुप्त
प्रतापनारायण मिश्र
महावीरप्रसाद द्विवेदी

JL-DL-NET(Model Bits in Hindi)-9

JL-DL-NET(Model Bits in Hindi)-9

1. हम कौन थे,क्या हो गए है और क्या होंगे अभी
आओ, विचारों आज मिलकर ये समस्याएँ सभी।--
 ये पंक्तियाँ किस काव्यग्रंथ से उद्भत की गई है?
साकेत
जयद्रथ-वध
भारत-भारती
स्वप्न

2. 'उमर खैयाम की रूबाईयाँ' के रचनाकार है?
मैथिलीशरण गुप्त
बालमुकुंद गुप्त
रामनरेश त्रिपाठी
श्रीधर पाठक

3. 'हिमकिरीटिनी' कविता के रचनाकार हैं?
लोचनप्रसाद पाण्डेय
मुकुटधर पाण्डेय
माखनलाल चतुर्वेदी
बालमुकुंद गुप्त

4. 'कविता-कौमुदी' किसका काव्य-संग्रह है?
लोचनप्रसाद पाण्डेय
रामनरेश त्रिपाठी
श्रीधर पाठक
महावीरप्रसाद द्विवेदी

5. 'वैदेही वनवास' किसकी रचना है?
रामनरेश त्रिपाठी
हरिऔध
श्रीधर पाठक
मैथिलीशरण गुप्त

6. मैथिलीशरण गुप्त किस युग के कवि है?
भारतेंदु युग
भक्तिकाल
छायावाद
द्विवेदी युग

7. कामताप्रसाद गुरू की पहचान किस रूप में है?
कोशकार
इतिहासकार
वैयाकरण
उपन्यासकार

8. 'ग्यारह वर्ष का समय' कहानी के लेखक कौन है?
भगवानदास
बंगमहिला
रामचंद्रशुक्ल
किशोरीलाल गोस्वामी

9. 'छाया' किस लेखक की कहानियों का संग्रह है?
जयशंकर प्रसाद
रामचंद्र शुक्ल
प्रेमचंद
बंगमहिला

10. चंद्रधर शर्मा गुलेरी की 'उसने कहा था' कहानी किस पत्रिका में प्रकाशित हुई थी?
इंदु
प्रभा
सरस्वती
माधुरी

JL-DL-NET(Model Bits in Hindi)-8

JL-DL-NET(Model Bits in Hindi)-8

1. 'निस्सहाय हिंदू' किस प्रकार का उपन्यास हैं?
रोमानी
सामाजिक
जासूसी
धार्मिक

2. 'चंद छंद बरनन की महिमा' की भाषा क्या हैं?
अवधी
खडीबोली
ब्रजभाषा
डिंगल

3. सरस्वती पत्रिका का प्रकाशन किस वर्ष प्रारंभ हुआ?
1903 ई.
1893 ई.
1901 ई.
1900 ई.

4. काशी नागरीप्रचारिणी सभा की स्थापना किस वर्ष हुई?
1893 ई.
1900 ई.
1903 ई.
1905 ई.

5. किस कवि को राष्ट्रकवि की उपाधि दी गई?
महावीरप्रसाद द्धिवेदी
भारतेंदु
मैथिलीशरण गुप्त
श्रीधर पाठक

6. किस कवि को खडी बोली का प्रथम कवि माना जाता है?
श्रीधर पाठक
मैथिलीशरण गुप्त
बालमुकुंद गुप्त
रामनरेश त्रिपाठी

7. 'त्रिशूल' उपन्यास से राष्ट्रीय भावनाओं की कविता लिखने वाले कवि?
राय देवीप्रसाद
गयाप्रसाद शुक्ल
श्रीधर पाठक
मैथिलीशरण गुप्त

8. 'साकेत' प्रबंध काव्य की नायिका कौन है?
उर्मिला
सीता
राधा
पद्मावती

9. अबला जीवन हाय तुम्हरी यही कहानी
आँचल में हैं दूध और आँखों में पानी। पंक्तियां किसकी हैं?
महावीरप्रसाद द्धिवेदी
रामनरेश त्रिपाठी
मैथिलीशरण गुप्त
श्रीधर पाठक

10. मैथिलीशरण गुप्त के गुरू थे?
भारतेंदु
महावीरप्रसाद द्विवेदी
श्रीधर पाठक
बालमुकुंद गुप्त

JL-DL-NET(Model Bits in Hindi)-7

JL-DL-NET(Model Bits in Hindi)-7

1. हिन्दी प्रदीप पत्र के संपादक कौन थे?
भारतेंदु
बालकृष्ण भट्ट
श्रीधर पाठक
अज्ञेय

2. नवजागरण का सर्वाधिक प्रभाव किस साहित्य पर पडा?
ब्रज-साहित्य
बांग्ला-साहित्य
अवधी-साहित्य
खडी बोली-साहित्य

3. स्वामी विवेकानंद जी का इतिहास-प्रसिद्ध शिकागो में व्याख्यान वर्ष है?
1893 ई.
1890 ई.
1900 ई.
1905 ई.

4. 'नहुष' नाटक के नाटककार कौन हैं?
भारतेंदु
गोपालचंद्र गिरिधरदास
मधुसूदन दत्त
मैथिलीशरण गुप्त

5. 'नूतन ब्रह्मचारी' किसका उपन्यास है?
बालकृष्ण भट्ट
प्रतापनारायण मिश्र
उग्र
अश्क

6. 'कालचक्र' नामक पुस्तक के लेखक थे?
भारतेंदु
श्रीनिवासदास
सदल मिश्र
लल्लूजी लाल

7. 'श्यामा स्वप्न' किस प्रकार का उपन्यास है?
मनोवैज्ञानिक
जासूसी
रोमानी
सामाजिक

8. भारतेंदु मंडल के अंतिम लेखक सदस्य थे
बालकृष्ण भट्ट
बालमुकुंद गुप्त
महावीरप्रसाद द्विवेदी
हरिऔध

9. 'निज भाषा उन्नति अहै, सब उन्नति को मूल
बिनु निज भाषा ज्ञान के, मिटत न हिय को सूल'।
भारतेंदु
अयोध्याप्रसाद खत्री
द्धिवेदी गुप्त
बालकृष्ण भट्ट

10. 'चंद छंद बरनन की महिमा' ग्रंथ के रचनाकार है?
गंग कवि
रामप्रसाद निरंजनी
बनारसीदास जैन
किशोरीलाल गोस्वामी

JL-DL-NET(Model Bits in Hindi)-6

JL-DL-NET(Model Bits in Hindi)-6

1. अभिधा उत्तम काव्य है मध्य लक्षणा लीन
अधम व्यंजना रस विरस, उलटी कहत नवीन।
ब्रजनाथ
आलम
पद्माकर
देव

2. भले बुरे सब एक सम, जौ लौ बोलत नाहिं
जानि परत है काक पिक, ऋतु बसंत के माहिं।
सेनापति
वृंद
भूषण
लाल कवि

3. 'रीतिकाव्य की भूमिका' नामक पुस्तक लिखने वाले विद्धान् हैं?
डॉ. नगेंद्र
डॉ. महेंद्र कुमार
डॉ.चंद्रा
आचार्य विश्वनाथ

4. 'बिहारी सतसई की भूमिका' के रचनाकार कौन हैं?
बिहारी लाल
पद्मसिंह शर्मा
देव
लाला भगवानदीन

5. 'प्रेमसागर' के रचनाकार है?
सदल मिश्र
लल्लूजी लाल
रामप्रसाद निरंजनी
श्रद्धाराम फुल्लौरी

6. 'भाषा योगवाशिष्ठ' के रचनाकार कौन है?
रामप्रसाद निरंजनी
लल्लूजी लाल
सदल मिश्र
नवीन चंद्र

7. 'सितारे हिंद' किस लेखक का उपनाम था?
राजा शिवप्रसाद
राजा लक्ष्मणसिंह
हरिश्चंद्र
प्रेमचंद

8. 'उदांत मार्तण्ड' समाचार-पत्र के संपादक कौन थे?
राजा राममोहन राय
राजा लक्ष्मण सिंह
अज्ञेय
पं. जुगल किशोर
9. भारतेंदु हरिश्चंद्र का पहला मौलिक नाटक कौन-सा है?
वैदिकी हिंसा हिंसा न भवति
प्रेमयोगिनी
भारत-दुर्दशा
नीलदेवी

10. हिन्दी नई चाल में ढली किसने कहा?
नंददुलारे वाजपेयी
अमीर खुसरो
नगेंद्र
भारतेंदु हरिश्चंद्र

Thursday, November 30, 2017

JL-DL-NET(Model Bits in Hindi)-5

JL-DL-NET(Model Bits in Hindi)-5

1. नरसी जी का मायरा किसकी रचना है?
मीराबाई
गुरू नानक
कबीरदास
रामानंद

2. पुष्टिमार्ग का जहाज किसे कहा जाता है?
सूरदास
नंददास
वल्लभाचार्य
विट्ठलनाथ

3. भक्तिकाल को ईसाई धर्म की देन कहा?
रामचंद्रशुक्ल
रामकुमार वर्मा
राहुल सांकृत्यायन
ग्रियर्सन

4. बेलि क्रिसन रूकमणी री के रचयिता है?
पृथ्वीराज राठौड़
लालचंद
वल्लभाचार्य
रामानुज

5. रामचरितमानस की टीका किसने की?
महेंद्र रामचरण
हरिचरणदास
जानकीदास
किशोरीदास

6. उत्तर मध्यकाल को श्रृंगारकाल नाम किसने दिया?
रामचंद्रशुक्ल
पं. विश्वनाथप्रसाद मिश्र
मित्रबंधु
रामकुमार वर्मा

7. केशव को कठिन काव्य का प्रेत किस आलोचक ने कहा?
रामचंद्रशुक्ल
हजारीप्रसाद द्विवेदी
मित्रबंधु
ग्रियर्सन

8. वीरसिंहदेव चरित किस कवि की रचना है?
चिंतामणि
ठाकुर
पद्माकर
केशवदास

9. जदपि सुजाति सुलक्षिणी, सुवरण सरस सुवृत
भूषण बिनु न विराजहिं कविता, बनिता, मित।
केशवदास
देव
घनानंद
बोधा

10. कुंदन को रंग फीको लगे झलकै अति अंगनि चारू गोराई।
मतिराम
भिखारीदास
केशवदास
चिंतामणि

JL-DL-NET(Model Bits in Hindi)-4

JL-DL-NET(Model Bits in Hindi)-4

1. वैराग्य संदीपनी किस कवि की रचना है?
तुलसीदास
कबीरदास
वियोगी हरि
रैदास

2. रामायण महानाटक के रचयिता कौन है?
रामचरणदास
प्राणचंद चौहान
हरिचरणदास
जानकीप्रसाद

3. रासपंचाध्यायी के रचयिता निम्न में से कौन है?
तुलसीदास
नंददास
अग्रदास
प्रियादास

4. बुद्धदेव के बाद भारत के सर्वाधिक बडे लोकनायक तुलसीदास है – पंक्ति किसकी है?
हजारीप्रसाद द्धिवेदी
नगेंद्र
ग्रियर्सन
रामचंद्रशुक्ल

5. चौरासी वैष्णवन की वार्ता के रचयिता है?
गोकुलनाथ
नंददास
अग्रदास
प्रियदास

6. साखी सबदी दोहरा, कवि कहिनी उपखान
भगति निरूपहिं भगत कलि, निंदहिं वेद पुरान। - 
किस कवि की पंक्तियाँ है?
तुलसीदास
रसखान
कबीरदास
रैदास

7. जाके प्रिय न राम वैदेही,
सो नर तजिउ कोटि बैरी सम, जदपि परम सनेही। - 
यह तुलसीदास के किस काव्य ग्रंथ की उक्ति है
रामचरितमानस
कवितावली
विनयपत्रिका
दोहावली

8. अष्टछाप की स्थापना किसने की?
वल्लभाचार्य
रामानंद
विट्ठलनाथ
रामानुज

9. भ्रमरगीत का मुख्य आधार क्या रहा है?
द्वादश स्कंध
गीता
भागवत का दशम स्कंध
उपनिष्द

10. संतन सो कहा सीकरी सों काम
आवत जात पनहियों टूटी बिसरि गया हरि नाम।
परमानंददास
सूरदास
कुम्भनदास
छीतस्वामी

JL-DL-NET(Model Bits in Hindi)-3

JL-DL-NET(Model Bits in Hindi)-3 

1. मध्ययुगीन रामकाव्य परंपरा के अंतिम रामभक्त कवि है?
विश्वनाथ
नाभादास
अग्रदास
प्राणचंद चौहान

2. प्रभु जी तुम चंदन हम पानी
जाकी अंग-अंग बास समानी।
कबीरदास
नामदेव
मलूकदास
रैदास

3. पद्मावत की भाषा कौन-सी है?
राजस्थानी
अवधी
अपभ्रंश
ब्रजभाषा

4. आचार्य रामचंद्रशुक्ल ने किस सूफी कवि को सूफी काव्य परंपरा का प्रथम कवि माना है?
मुल्लादाऊद
मुतुबन
जायसी
मंझन

5. कहरनामा के रचयिता है?
जायसी
कुतुबन
मंझन
मुल्लादाऊद

6. जायसी किस सूफी फकीर के शिष्य थे?
शेख बुरहान
शेख मोहिदी
निजामुद्दीन चिश्ती
शेख नबी

7. भक्तमाल के रचयिता है?
नाभादास
कृष्णदास
कुम्भनदास
नारायणदास

8. अष्टयाम के रचनाकार है?
नाभादास
कृष्णदास
अग्रदास
नारायणदास

9. तुलसीदास जी ने रामचरितमानस की रचना किस पद्धति पर की -
गीतपद्धति
कवित्त-सवैया पद्धति
दोहा-चौपाई पद्धति
छप्पय पद्धति

10. तुलसी को कलिकाल का वाल्मीकि किसने कहा?
रामचंद्रशुक्ल
ग्रियर्सन
स्मिथ
नाभादास

JL-DL-NET(Model Bits in Hindi)-2

JL-DL-NET(Model Bits in Hindi)-2 

1. अपनी पहेलियों और मुकरियों के लिए प्रसिद्ध कवि –
विद्यापति
हेमचंद्र
शबरपा
अमीर खुसरो

2. मैथिल कोकिल के नाम से प्रसिद्ध कवि थे –
विद्यापति
हेमचंद्र
शबरपा
अमीर खुसरो

3. ढोला-मारू रा दूहा की नायिका का नाम क्या है?
दमयंती
मारवणी
शकुंतला
राधा

4. गाथा सप्तशती की रचना किस भाषा में हुई?
संस्कृत
हिन्दी
पालि
प्राकृत

5. कीर्तिलता व कीर्तिपताका के रचनाकार है?
विद्यापति
हेमचंद्र
शबरपा
अमीर खुसरो

6. आदिकाल को अपभ्रंश काल किसने कहा?
धीरेंद्र वर्मा
डॉ. नगेंद्र
डॉ. बच्चन
रामविलास शर्मा

7. भक्ति का सर्वप्रथम उल्लेख किस ग्रंथ में मिलता है?
श्वेताश्वेतर उपनिषद्
रामायण
कौशीतकी बाह्मण
छांदोग्योपनिषद्

8. बीजक के संकलनकर्ता कौन थे?
धर्मदास
गुरू नानक देव
रैदास
मीराबाई

9. निर्गुण संत कवियों में सर्वाधिक सुशिक्षित व शास्त्रज्ञ संत थे?
कबीरदास
दादूदयाल
सुंदरदास
रज्जब

10. अदैतवाद के संस्थापक थे?
शंकराचार्य
वल्लभाचार्य
रामानंद
मध्वाचार्य

JL-DL-NET(Model Bits in Hindi)-1


JL-DL-NET(Model Bits in Hindi)-1


1. हिन्दी साहित्य का प्रथम इतिहास “इस्त्वार द ला लितरेत्यूर ऐन्दुई ऐन्दुस्तानी” किस भाषा में लिखा गया?

अंग्रेजी

हिन्दी

फ्रेंच

जर्मन

2. सरहपा को हिन्दी का प्रथम कवि मानने वाले विद्वान हैं?

डॉ. गणपतिचंद्र गुप्त

राहुल सांकृत्यायन

धीरेंद्र वर्मा

डॉ. रसाल

3. ‘शब्दानुशासन’ के रचनाकार कौन है?

हेमचंद्र

पुष्पदंत

स्वयंभू

डोम्भिपा

4. आदिकाल को ‘आदिकाल’ नाम किसने दिया?

रामकुमार वर्मा

हजारीप्रसाद द्विवेदी

आचार्य रामचंद्र शुक्ल

डॉ. रसाल

5. ‘संदेश रासक’ खण्डकाव्य के रचयिता है?

धनपाल

अब्दुल रहमान

विद्यापति

अमीर खुसरो

6. आचार्य रामचंद्रशुक्ल के अनुसार हिन्दी के प्रथम कहाकवि हैं?

पृथ्वीराजत रासो

बीसलदेव रासो

परमाल रासो

खुमान रासो

7. “बारह बरस लौ कूकर जीवै, अरू तेरह लौ जियै सियार।

बरस अठारह छत्री जीवै, आगे जीवन को धिक्कार”।।

विद्यापति

अमीर खुसरो

दलपत विजय

जगनिक

8. 84 सिद्धों में बहुत-से कछुए, चमार, धोबी, डोम, कहार, लकड़हारे, दरजी तथा बहुत-से शूद्र कहे जाने वाले लोग थे। अतः जाति-पाँति के खण्डन तो वे आप ही थे। -- वह पंक्तियाँ किसकी है?

हजारीप्रसाद द्विवेदी

धीरेंद्र वर्मा

रामचंद्रशुक्ल

परशुराम चतुर्वेदी

9. ‘चंदबरदाई’ किसके दरबारी कवि थे?

बीसलदेव

पृथ्वीराज

तिरहुत के राजा

खुमाण

10. ‘पद्मावती समय’ किस ग्रंथ का एक भाग है?

पद्मावत

रणमल्ल छंद

पृथ्वीराज रासो

परमाल रासो

Friday, October 13, 2017

मीरा की भक्ति भावना


मीरा की भक्ति भावना मीरा की भक्ति भावना

कबीरदास के दार्शनिक विचार


कबीरदास के दार्शनिक विचार कबीरदास के दार्शनिक विचार

सूरदास और उनका पद


सूरदास और उनका पद सूरदास और उनका पद

अमीर खुसरो और उनका काव्य


अमीर खुसरो और उनका काव्य अमीर खुसरो और उनका काव्य

विद्यापति उनका काव्य


विद्यापति उनका काव्य विद्यापति उनका काव्य

मंझन और उनका काव्य


मंझन और उनका काव्य मंझन और उनका काव्य

तुलसी और उनका काव्य


तुलसी और उनका काव्य तुलसी और उनका काव्य

सूर का वात्सल्य एवं भक्ति


सूर का वात्सल्य एवं भक्ति सूर का वात्सल्य एवं भक्ति

Thursday, September 21, 2017

Tuesday, September 12, 2017

किसको नमन करूँ मैं भारत? – रामधारी सिंह दिनकर


किसको नमन करूँ मैं भारत? – रामधारी सिंह दिनकर

तुझको या तेरे नदीश, गिरि, वन को नमन करूँ, मैं ?
मेरे प्यारे देश ! देह या मन को नमन करूँ मैं ?
किसको नमन करूँ मैं भारत ? किसको नमन करूँ मैं ?


भू के मानचित्र पर अंकित त्रिभुज, यही क्या तू है ?
नर के नभश्चरण की दृढ़ कल्पना नहीं क्या तू है ?
भेदों का ज्ञाता, निगूढ़ताओं का चिर ज्ञानी है
मेरे प्यारे देश ! नहीं तू पत्थर है, पानी है
जड़ताओं में छिपे किसी चेतन को नमन करूँ मैं ?

भारत नहीं स्थान का वाचक, गुण विशेष नर का है
एक देश का नहीं, शील यह भूमंडल भर का है
जहाँ कहीं एकता अखंडित, जहाँ प्रेम का स्वर है
देश-देश में वहाँ खड़ा भारत जीवित भास्कर है
निखिल विश्व को जन्मभूमि-वंदन को नमन करूँ मैं !

खंडित है यह मही शैल से, सरिता से सागर से
पर, जब भी दो हाथ निकल मिलते आ द्वीपांतर से
तब खाई को पाट शून्य में महामोद मचता है
दो द्वीपों के बीच सेतु यह भारत ही रचता है
मंगलमय यह महासेतु-बंधन को नमन करूँ मैं !

दो हृदय के तार जहाँ भी जो जन जोड़ रहे हैं
मित्र-भाव की ओर विश्व की गति को मोड़ रहे हैं
घोल रहे हैं जो जीवन-सरिता में प्रेम-रसायन
खोर रहे हैं देश-देश के बीच मुँदे वातायन
आत्मबंधु कहकर ऐसे जन-जन को नमन करूँ मैं !

उठे जहाँ भी घोष शांति का, भारत, स्वर तेरा है
धर्म-दीप हो जिसके भी कर में वह नर तेरा है
तेरा है वह वीर, सत्य पर जो अड़ने आता है
किसी न्याय के लिए प्राण अर्पित करने जाता है
मानवता के इस ललाट-वंदन को नमन करूँ मैं !

रामधारी सिंह दिनकर

Friday, September 8, 2017

पर्वत प्रदेश में पावस - सुमित्रानंदन पंत

पर्वत प्रदेश में पावस - सुमित्रानंदन पंत

पावस ऋतु थी, पर्वत प्रदेश,
पल-पल परिवर्तित प्रकृति वेश।

मेखलाकार पर्वत अपार
अपने सहस्र दृग सुमन फाड़,
अवलोक रहा है बार बार 
नीचे जल में निज महाकार,
जिसके चरणों में पला ताल 
दर्पण सा फैला है विशाल।

गिरि का गौरव गाकर झर झर
मद में नस-नस उत्तेजित कर
मोती की लड़ियों से सुंदर
झरते हैं झाग भरे निर्झर।

गिरिवर के उर से उठ-उठ कर
उच्चाकांक्षाओं से तरुवर
हैं झाँक रहे नीरव नभ पर
अनिमेष, अटल, कुछ चिंतापर।

उड़ गया अचानक लो, भूथर
फड़का अपार पारद के पर।
रव-शेष रह गए हैं निर्झर
है टूट पड़ा भू पर अंबर।

धँस गए धरा में सभय शाल
उठ रहा धुआँ जल गया ताल
यों जलद यान में विचर विचर
था इंद्र खेलता इंद्रजाल।

'प्रथम रश्मि का आना रंगिणि! - सुमित्रानंदन पंत

'प्रथम रश्मि का आना रंगिणि! - सुमित्रानंदन पंत

'प्रथम रश्मि का आना रंगिणि!
तूने कैसे पहचाना?
कहां, कहां हे बाल-विहंगिनि!
पाया तूने यह गाना?
सोयी थी तू स्वप्न नीड़ में,
पंखों के सुख में छिपकर,
ऊँघ रहे थे, घूम द्वार पर,
प्रहरी-से जुगनू नाना।

शशि-किरणों से उतर-उतरकर,
भू पर कामरूप नभ-चर,
चूम नवल कलियों का मृदु-मुख,
सिखा रहे थे मुसकाना।

स्नेह-हीन तारों के दीपक,
श्वास-शून्य थे तरु के पात,
विचर रहे थे स्वप्न अवनि में
तम ने था मंडप ताना।

कूक उठी सहसा तरु-वासिनि!
गा तू स्वागत का गाना,
किसने तुझको अंतर्यामिनी
बतलाया उसका आना! '

Sunday, August 6, 2017

गुरु गोविन्द दोऊ खड़े || कबीर अमृतवाणी ||


गुरु गोविन्द दोऊ खड़े || कबीर अमृतवाणी ||

Rashmirathi : Ramdhari Singh Dinkar


Rashmirathi : Ramdhari Singh Dinkar

Mahakavi Agyey


Mahakavi Agyey

Mahakavi Jaishankar Prasad


Mahakavi Jaishankar Prasad

Mahakavi Mahadevi Verma


Mahakavi Mahadevi Verma

Mahakavi Dushyant Kumar


Mahakavi Dushyant Kumar

Mahakavi Baba Nagarjun


Mahakavi Baba Nagarjun

Mahakavi Ramdhari Singh Dinkar


Mahakavi Ramdhari Singh Dinkar

Mahakavi Nirala


Mahakavi Nirala

पृथ्वीराज रासो


पृथ्वीराज रासो

अष्टछाप के कवि


अष्टछाप के कवि

मुहावरे (Muhavare)


मुहावरे (Muhavare)

प्रत्यय (Pratyay)


प्रत्यय (Pratyay)

उपसर्ग (Upsarg)


उपसर्ग (Upsarg)

संधि का सरलतम स्पष्टीकरण#01(vowels)


संधि का सरलतम स्पष्टीकरण#01(vowels)

संधि


संधि

सन्धि - दीर्घ स्वर सन्धि


सन्धि - दीर्घ स्वर सन्धि

अलंकार (Alankaar)


अलंकार (Alankaar)

सर्वनाम (Pronoun)


सर्वनाम (Pronoun)

संज्ञा(Noun)


संज्ञा(Noun)

छंद (Chhand)


छंद (Chhand)

रस (RAS)


रस (RAS)

विशेषण VISHESHAN


विशेषण VISHESHAN

समास को पहचाने ट्रिक्स से, हिंदी व्याकरण Samas with tricks hindi grammar


समास को पहचाने ट्रिक्स से, हिंदी व्याकरण Samas with tricks hindi grammar

समास हिंदी (Samas)


समास हिंदी (Samas)

Monday, July 31, 2017

RECEIVED "ADARSH VIDYA SARASWATI RASHTRIYA PURASKAR" @ AHMEDABAD (30th JUNE, 2017)


RECEIVED "ADARSH VIDYA SARASWATI RASHTRIYA PURASKAR" @ AHMEDABAD (30th JUNE, 2017)
GLACIER JOURNAL RESEARCH FOUNDATION
GLOBAL MANAGEMENT COUNCIL


I (Dr.A.C.V. RAMAKUMAR) WANT TO EXPRESS MY SINCERE APPRECIATION AND THANKS TO THE GOVERNING BODY OF “GLOBAL MANAGEMENT COUNCIL” FOR RECOGNIZING ME WITH "ADARSH VIDYA SARASWATI RASHTRIYA PURASKAR". I AM DEEPLY GRATEFUL FOR THIS HONOR. THANK YOU.


A DISTINETION OF BEING ONE OF THE BEST TEACHER IN THE COUNTRY












Friday, July 28, 2017

UGC-NET/SET-PAPER-I(2012-DEC) - MODEL PAPER-131


UGC-NET/SET-PAPER-I(2012-DEC) - MODEL PAPER-131

UGC-NET/SET-PAPER-I(2012-DEC) - MODEL PAPER-130


UGC-NET/SET-PAPER-I(2012-DEC) - MODEL PAPER-130

UGC-NET/SET-PAPER-I(2012-DEC) - MODEL PAPER-129


UGC-NET/SET-PAPER-I(2012-DEC) - MODEL PAPER-129

UGC-NET/SET-PAPER-I(2012-DEC) - MODEL PAPER-128


UGC-NET/SET-PAPER-I(2012-DEC) - MODEL PAPER-128

UGC-NET/SET-PAPER-I(2012-DEC) - MODEL PAPER-127


UGC-NET/SET-PAPER-I(2012-DEC) - MODEL PAPER-127

UGC-NET/SET-PAPER-I(2012-DEC) - MODEL PAPER-126


UGC-NET/SET-PAPER-I(2012-DEC) - MODEL PAPER-126

UGC-NET/SET-PAPER-I(2012-JUNE) - MODEL PAPER-125


UGC-NET/SET-PAPER-I(2012-JUNE) - MODEL PAPER-125

UGC-NET/SET-PAPER-I(2012-JUNE) - MODEL PAPER-124


UGC-NET/SET-PAPER-I(2012-JUNE) - MODEL PAPER-124

UGC-NET/SET-PAPER-I(2012-JUNE) - MODEL PAPER-123


UGC-NET/SET-PAPER-I(2012-JUNE) - MODEL PAPER-123

Thursday, July 27, 2017

UGC-NET/SET-PAPER-I(2012-JUNE) - MODEL PAPER-122


UGC-NET/SET-PAPER-I(2012-JUNE) - MODEL PAPER-122

UGC-NET/SET-PAPER-I(2012-JUNE) - MODEL PAPER-121


UGC-NET/SET-PAPER-I(2012-JUNE) - MODEL PAPER-121

UGC-NET/SET-PAPER-I(2012-JUNE) - MODEL PAPER-120


UGC-NET/SET-PAPER-I(2012-JUNE) - MODEL PAPER-120

UGC-NET/SET-PAPER-I(2011-DEC) - MODEL PAPER-119


UGC-NET/SET-PAPER-I(2011-DEC) - MODEL PAPER-119

UGC-NET/SET-PAPER-I(2011-DEC) - MODEL PAPER-118


UGC-NET/SET-PAPER-I(2011-DEC) - MODEL PAPER-118

UGC-NET/SET-PAPER-I(2011-DEC) - MODEL PAPER-117


UGC-NET/SET-PAPER-I(2011-DEC) - MODEL PAPER-117

UGC-NET/SET-PAPER-I(2011-DEC) - MODEL PAPER-116


UGC-NET/SET-PAPER-I(2011-DEC) - MODEL PAPER-116

UGC-NET/SET-PAPER-I(2011-DEC) - MODEL PAPER-115


UGC-NET/SET-PAPER-I(2011-DEC) - MODEL PAPER-115

UGC-NET/SET-PAPER-I(2011-DEC) - MODEL PAPER-114


UGC-NET/SET-PAPER-I(2011-DEC) - MODEL PAPER-114

UGC-NET/SET-PAPER-I(2011-JUNE) - MODEL PAPER-113


UGC-NET/SET-PAPER-I(2011-JUNE) - MODEL PAPER-113

UGC-NET/SET-PAPER-I(2011-JUNE) - MODEL PAPER-112


UGC-NET/SET-PAPER-I(2011-JUNE) - MODEL PAPER-112

UGC-NET/SET-PAPER-I(2011-JUNE) - MODEL PAPER-111


UGC-NET/SET-PAPER-I(2011-JUNE) - MODEL PAPER-111

UGC-NET/SET-PAPER-I(2011-JUNE) - MODEL PAPER-110


UGC-NET/SET-PAPER-I(2011-JUNE) - MODEL PAPER-110

UGC-NET/SET-PAPER-I(2011-JUNE) - MODEL PAPER-109


UGC-NET/SET-PAPER-I(2011-JUNE) - MODEL PAPER-109

UGC-NET/SET-PAPER-I(2011-JUNE) - MODEL PAPER-108


UGC-NET/SET-PAPER-I(2011-JUNE) - MODEL PAPER-108

UGC-NET/SET-PAPER-I(2010-DEC) - MODEL PAPER-107


UGC-NET/SET-PAPER-I(2010-DEC) - MODEL PAPER-107

UGC-NET/SET-PAPER-I(2010-DEC) - MODEL PAPER-106


UGC-NET/SET-PAPER-I(2010-DEC) - MODEL PAPER-106

UGC-NET/SET-PAPER-I(2010-DEC) - MODEL PAPER-105


UGC-NET/SET-PAPER-I(2010-DEC) - MODEL PAPER-105